Back

ⓘ कवि ..




                                               

चैतन्य महाप्रभु

चैतन्य महाप्रभु वैष्णव धर्म अन्तर्गत गौडीय सम्प्रदायक संस्थापक महान सन्त छल ओ द्वारा महामन्त्र संकीर्तनक ई विश्व भर रहल गौडियासभ भक्ति भाव पूर्वक नाम संकीर्तनमे मग्न भऽ नाच गावैत अतः ओ भक्तिकालक प्रमुख कविसभ मध्ये एक छथि।

                                               

भानुभक्त आचार्य

भानुभक्त आचार्य नेपाली साहित्यक प्राथमिक कालक प्रतिनिधि कवि छी । ओ वाल्मीकि रामायणक अनुवादकक रुपमे प्रख्यात अछि । मोतिराम भट्ट हुनका पहिल बेर नेपाली भाषाक आदिकविक उपाधि देनए छल ।। ओ प्रश्नोत्तर, भक्तमाला, वधूशिक्षा लगायतका कृतिसभ लिखने छल । हुनकर पाण्डुलिपिके सङ्ग्रह करि मोतिराम भट्ट पुस्तकारमे प्रकाशित करलाकबाद ओ नेपाली साहित्यमे चिन्हल गेछल ।

                                               

काशीकान्त मिश्र "मधुप"

काशीकान्त मिश्र "मधुप" 1906-1987 १९७०- काशीकान्त मिश्र" मधुप” राधा विरह, महाकाव्य पर साहित्य अकादेमी पुरस्कार प्राप्त मैथिलीक प्रशस्त कवि आ मैथिलीक प्रचार-प्रसारक समर्पित कार्यकर्ता ’झंकार’ कवितासँ क्रान्ति गीतक आह्वान कएलनि । प्रकृति प्रेमक विलक्षण कवि । ’घसल अठन्नी कविताक लेल कथ्य आ शिल्प-संवेदना - दुहू स्तर पर चरम लोकप्रियता भेटलनि।

                                               

प्रोफेसर महेन्द्र

प्रोफेसर महेन्द्र 1947- जन्म: भेलाही, सुपौल, बिहार । प्रसिद्ध कवि, कथाकार, आलोचक । वृत्ति: भू.ना. विश्वविद्यालयक स्नातकोत्तर केन्द्र, सहरसामे मैथिली विभागाध्यक्ष। प्रकाशित कृति साहित्य अकादेमीसँ प्राकाशित मोनोग्राफ शैलेन्द्र मोहन झा । सहयोगी संकलन-संकल्प । ’राजकमल जयन्ती प्रसंगक संपादन।

                                               

रमेश

रमेश 1961- जन्म स्थान मेंहथ, मधुबनी, बिहार। चर्चित कथाकार ओ कवि । प्रकाशित कृति: समांग, समानांतर, दखल कथा संग्रह, नागफेनी गजल संग्रह, संगोर, समवेत स्वरक आगू, कोसी धारक सभ्यता, पाथर पर दूभि काव्य संग्रह, प्रतिक्रिया आलोचनात्मक निबंध।

                                               

ईशनाथ झा

ईशनाथ झा 1907-1965 बहुमुखी प्रतिभाक कवि । प्राचीन आ नवीन पद्धतिक काव्य-रचनाक विलक्षण संयोग हिनकर कवितामे भेटैत अछि । दलित वर्ग, शोषणक समस्या, स्वदेश प्रेमक यथार्थवादी रचनाक संग संग व्यक्तिनिष्ठ कल्पनाक अनेक विशिष्ट कविता मैथिलीमे लिखलनि ।

                                               

विद्यानन्द झा

विद्यानन्द झा 1965- बुद्धपूर्णिमा, १९६५कें कैथिनियाँ, झंझारपुर मुधुबनीमे जन्म। पराती जकाँ कविता संग्रह प्रकाशित । मूलतः कवि, थोड़ कथा लिखलनि, जे अपन मार्मिक अभिव्यक्तिक कारण बेस चर्चित भेल । विडम्बनापूर्ण परिस्थितिक पाछू जिम्मेवार समाजार्थिक कारणक खोज हिनकर मूल सृजन प्रेरणा थिक ।

                                               

नीरव समदर्शी

नीरव समदर्शी,साधना प्राइम न्यूज चैनलक बिहार झारखंड,ब्यूरो इंचार्ज, बिहार साहित्य सम्मेलन के प्रवक्ता एवं ऑल इंडिया रिपोर्टर्स असोसिएशन के प्रदेश सचिव. एक पत्रकार, कवि और साहित्यकार के रुपमें परिचित छथि। पटनाके स्थानीय मालंच टीवी के प्रसारण 15 अगस्त 2000 ईसवी में प्रबन्ध निर्देशक के पद सं प्रारम्भ केलैथ।नक्षत्र न्यूज़ में एक्सयूक्यूटिव प्रोड्यूसर बिहार रहला,अनुपम उपहार मासिक पत्रिका में चारि साल धरि दृष्टिकोण कॉलम के कॉलम राइटर रहला।

                                               

रमानन्द रेणु

रमानन्द रेणु 1934-2011 जन्म स्थान उसमामठ, दरभंगा, बिहार । वरिष्ठ कवि, कथाकार ओ उपन्यासकार। साहित्य अकादेमी पुरस्कारसँ सम्मानित। प्रकाशित कृति: कचोट, त्रिकोण, अंतहीन आकाश कथा-संग्रह, दूधफूल उपन्यास, अंतत, ओकरे नाम कविता-संग्रह। २०००- रमानन्द रेणु कतेक रास बात, पद्यलेल साहित्य अकादमी पुरस्कार। विदेह सम्पादकक समानान्तर साहित्य अकादेमी फेलो पुरस्कार २०११ समग्र योगदान लेल

                                               

बुन्देलखण्ड

बुन्देलखण्ड मध्य भारतक एक प्राचीन क्षेत्र छी । एकर विस्तार मध्य प्रदेश तथा उत्तर प्रदेशमे सेहो अछि । बुन्देली ई क्षेत्रक मुख्य बोली छी । भौगोलिक आ सांस्‍कृतिक विविधतासभक बादो बुन्देलखण्डमे जे एकता आ समरसता अछि, ओकर कारण ई क्षेत्र अपना आपमे एक अचम्भित क्षेत्र छी । अनेक शासकसभ आ वंशसभक शासनक इतिहास भेलाक बादो बुन्देलखण्डक अपन एक दोसर ऐतिहासिक, सामाजिक आ सांस्‍कृतिक विरासत अछि । बुन्देली भूमिमे जन्‍मल अनेक विभूतिसभ अपने टा नाम नै चमकेलक यद्दपि ई क्षेत्रक नाम सेहो इतिहासमे अमर करि देलक । आल्हा-ऊदल, इसुरी, कवि पद्माकर, झाँसी कऽ रानी लक्ष्मीबाई, डाक्टर हरिसिंह गौर आदि अनेक महान विभूतिसभ एहि क्षे ...

                                               

कृष्ण कुमार कश्यप

कृष्ण कुमार कश्यप 1949- जन्म १५ सितम्बर १९४९ ई.। पिता- कवि-उपन्यासकार स्व. इन्द्रनारायण लाल "सँवलिया"। जनबरी १९६५ ई. मे नेना सभ लेल "नाइट स्कूल", १९८१ ई. मे "कला आधारित जीवन आ शिक्षण पद्धति"क प्रवर्तन आ तकर कार्यान्वयन लेल शिवा कश्यप आ शशिबालाक सहयोगसँ "भारती विकास संस्था"क स्थापना। रचना: शशिबालाक संग "मेघदूत" आ "गीत-गोविन्द"क मैथिली अनुवाद, माछ-भात, मिथिला चित्र-शिक्षा, भाग-१, मिथिला चित्र-कोर, भाग-३।

                                               

अबुल कलाम आजाद

मौलाना अबुल कलाम आजाद या अबुल कलाम गुलाम मुहियुद्दीन एक प्रसिद्ध भारतीय मुस्लिम विद्वान छल। ओ कवि, लेखक, पत्रकार आ भारतीय स्वतन्त्रता सेनानी छल। भारतक आजादी के बाद ओ एक महत्त्वपूर्ण राजनीतिज्ञ रहल। ओ महात्मा गान्धीक सिद्धान्तक समर्थन करैत छल। ओ हिन्दू-मुस्लिम एकताक लेल कार्य केलक, तथा ओ अलग मुस्लिम राष्ट्र क सिद्धान्तक विरोध करै वाला मुस्लिम नेतामे सँ छल। खिलाफत आन्दोलनमे उनकर महत्वपूर्ण भूमिका रहल। १९२३मे ओ भारतीय नेशनल काग्रेंसक सबसँ कम उमरके प्रेजीडेन्ट बनल। ओ १९४० आ १९४५क बीच काग्रेंस के प्रेजीडेन्ट रहल। आजादीक बाद ओ भारतक सांसद चुनल गेल आ ओ भारतक पहिल शिक्षामन्त्री बनल। ओ धारासन सत्या ...

                                               

कन्याकुमारी

कन्या कुमारी तमिलनाडु प्रान्त क सुदूर दक्षिण तट पर रहल एक शहर छी। ई हिन्द महासागर, बंगाल कऽ खाडी तथा अरब सागर क संगम स्थल छी, जत् भिन्नर सागर अपन विभिन्न रंङ्गसँ मनोरम छटा बिखरै अछि। भारतक सबसँ दक्षिण ओर पर बसल कन्याकुमारी वर्षोसँ कला, संस्कृति, सभ्यताक प्रतीक रहल अछि । भारतक पर्यटक स्थलक रूप मे सेहो ई स्थानका अपनही महत्च अछि। दूर-दूर फैलल समुद्रके विशाल लहरो के बीच यहांका सूर्योदय आ सूर्यास्तक नजारा बहुत आकर्षक लगैत अछि। समुद्र बीच पर फैलल रङ्ग बिरङ्ग रेत एकर सुन्दरतामे चार चांद लगवैत अछि ।

                                     

ⓘ कवि

  • जन म: अप र ल अप र ल अङ ग र ज र म न ट क ध रक म ख य कव छल ज द सर कव स म ल ट लर कलर जसग ल र कल व य ल ड कऽ सह - प रक शनपछ अङ ग र ज स ह त यम
  • म थ ल क प रशस त कव आ म थ ल क प रच र - प रस रक समर प त क र यकर त झ क र कव त स क र न त ग तक आह व न कएलन प रक त प र मक व लक षण कव घसल अठन न कव त क
  • स द ध चरण श र ष ठ व स ज ठ ज ठ न प लक न प ल आ न प ल भ ष कव छल ह नक न प ल सरक र स ह य गकव क पदव स सम म न त कएल छथ प र व न प लक
  • अरव न द ठ क र अङ ग र ज Arvind Thakur अरव न द ठ क र म थ ल क कथ क र कव आ आल चक छथ
  • म य एन ज ल अप र ल आ म त य म अम र क ल खक, कव आ स म ज क क र यकर त छल न
  • अक ट बर अप र ल एकट स प न प न टर, म र त क र, ड ज इनर, कव तथ न टकल खक छल ज अपन ज वनक वयस क समय फ र न सम ब त एन छल ओ ब स शत ब द क
  • ब रह मद व ल ल द स एकट म थ ल कव छ
  • हर व श र य बच चन कव पर चय : आत म - पर चय और एक ग त इस कव त म कव हर व शर य बच चन न अपन स वभ व एव व यक त त व क ब र म बत य ह कव जग क ज वन स
  • ज न क ट स अक ट बर फरब र अङ ग र ज र म न ट क ध रक कव छल ह नकर म त य क च र वर ष अग म त र ह नकर क त सभ प रक श त भ ल
  • जन म च त र - म त य अस र गत एक सशक त तथ क लज य न प ल कव छथ न ब झ आ न अर थ न प रय गव द ध र स न प ल कव त क अस त त वउपर आशङ क
दान्ते ऐलिगिरी
                                               

दान्ते ऐलिगिरी

दान्ते ऐलिगिरी दाँते एलीगियरी मई/जून १२६५ – १४ सितंबर, १३२१ मध्यकाल के इतालवी कवि अछि। दान्ते ऐलिगिरी वर्जिल के बाद इटली के सबसे महान कवि कहे जाइ अछि। दान्ते ऐलिगिरी इटली के राष्ट्रकवि छतीन। उनकरके सुप्रसिद्ध महाकाव्य डिवाइन कॉमेडिया अछि।

                                               

जयधारी सिंह

जयधारी सिंह 1929-2007 समीक्षक, कवि । प्रकाशन: बौद्धगानमे तांत्रिक सिद्धांत, समीक्षा शास्त्रा अदि । रामकृष्ण कॉलेज, मधुबनीमै मैथिली विभागक पूर्व अध्यक्ष ।

                                               

श्याम दरिहरे

श्याम दरिहरे 1954- जन्म स्थान बरहा, बेनीपट्टी मधुबनी, बिहार । कवि, कथाकार । प्रकाशित कृति: सरिसोमे भूत कथा संग्रह अनूदित कृति: कनिप्रिया धर्मवीर भारती

                                               

कुलानन्द मिश्र

कुलानन्द मिश्र 1940-2000 जन्म पकड़ी कोठी, सीतामढ़ी, बिहार। सुविख्यात कवि, संपादक, समालोचक। प्रकाशित कृति- तावत एतबे, भोरक प्रतीक्षामे कविता संग्रह, भारतक भाषा सर्वेक्षण, पारो, राजकमल चौधरी की ग्यारह कहानियाँ अनुवाद।

                                               

सत्येन्द्र कुमार झा

सत्येन्द्र कुमार झा 1969- जन्म ०१.०१.१९६९ संकटमोचन नगर, मधुबनी। कवि, कथाकार, अभिनेता। पोथी- अहींकेँ कहै छी लघु कथा संग्रह, मैथिली फिल्म पिरितिया, दुलरुआ बाबू आ श्यामा दर्शन आ सौभाग्य मिथिलाक सीरियल डॉ. टोप्पीवाला मे अभिनय। आकाशवाणीमे कार्यरत।

यामुनाचार्य
                                               

यामुनाचार्य

यमुनाचार्य प्रसिद्ध वैष्णव सन्त,संस्कृत कवि तथा रामानुजाचार्यक गुरु सेहो छथि । यामुनाचार्य अपन जीवनकालमे अत्यंत लाभ दायक पुस्तकसभ लिखने अछि जहिना गीतार्थ संग्रह सिद्धित्रय महापुरुष निर्णय आगम प्रमाण्य जहिना अनेक ग्रंथक रचना केने अछि । ओ विशिष्टाद्वैत सिद्धांतक समर्थन मायावाद्क खंडन भगवान नारायणक श्रेष्ठताक प्रतिपादन तथा पंचरात्र आगम सिद्धान्तक वैदिक प्रमाण द्वारा स्थापना जहिना कार्य करै वैष्णव शक्तिके उजागर केने अछि ।

                                               

डॉ. धीरेन्द्र

डॉ. धीरेन्द्र 1934-2004 जन्म स्थान लोहना, मधुबनी, बिहार । प्रसिद्ध कथाकार,उपन्यासकार ओ कवि । प्रकाशित कृति: कुहेस आ किरण, पझाइत घूरक आगि, शतरूपा ओ मनु अपन मन्दिर कथासंग्रह हैंगरमे टाँगल कोट, काल्हि ओ आइ कविता संग्रह सहित कैक विधामे विभिन्न पोथी।

                                               

उपेन्द्र दोषी

उपेन्द्र दोषी 1943-2001 जन्म स्थान रामपुर-कोरिगामा, दरभंगा । कवि-कथाकार, गीत-गजलकार । प्रकाशित कृति: यंत्रणाक क्षणमे कविता संग्रह। हिन्दीमे अनेक पोथी प्रकाशित। ओड़ियासँ मैथिली अनुवाद हेतु मृत्युपरान्त साहित्य अकादेमीसँ पुरस्कृत। २००३- उपेन्द दोषी कथा कहिनी- मनोज दास, उड़िया लेल साहित्य अकादेमी मैथिली अनुवाद पुरस्कार।

                                               

बद्रीनाथ झा

बद्रीनाथ झा 1893-1973 जन्म मधुबनी जिलाक सरिसव ग्राममे १८९३ ई. मे भेलन्हि तथा १९१४ ई. मे ई काशी लाभ कएलिन्ह । बहुत दिन धरि ई मुजफ्फरपुरक धर्म्म समाज संस्कृत कॉलेजमे साहित्यक अध्यापक छलाह । मैथिलीक विख्यात कवि लोकनि यथा सुमनजी, मधुपजी, मोहनजी आदि हिनक शिष्य छथिन्ह । संस्कृत साहित्यमे हिनक अनेक रचना अछि । जाहिमे राधा परिणय’ महाकाव्य क स्थान विशिष्ट अछि । मैथिलीमे हिनक ’एकावली परिणय’ महाकाव्य एक नवीन कीर्तिमान स्थापित कएलक। कोनो अलंकारक दृष्टान्त तकबाक हेतु ’एकावली परिणय’ पर्याप्त अछि ।

Users also searched:

...
...
...